certifired_img

Books and Documents

Hindi Section (18 Aug 2018 NewAgeIslam.Com)


Don’t Give Up, Just Try Something New and Look Ahead With Hope हार न मानें, कुछ नया आज़माएं और उम्मीद के साथ आगे की ओर देखें

 

 

 

मौलाना वहीदुद्दीन खान

17 जुलाई 2018

आज की दुनिया में ऐसे बहुत सारे लोग हैं जिन को शराब, तम्बाकू और ड्रग जैसी चीजों की लत लगी होती हैl लोग यह अच्छी तरह जानते हैं कि यह लतें स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं, इसके बावजूद वह इन आदतों को छोड़ने में सक्षम नहीं हैं जो उनकी लत बन चुकी हैंl

मैं अक्सर ऐसे लोगों से मिलता रहता हूँ और मेरी यह जानने की कोशिश होती है कि वह कैसे ऐसी लत का शिकार हो गए हैं जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, मैं ने एक व्यक्ति से इसकी वजह पूछी, वह मुस्कुराया और मुझ से कहा “यह मेरे लिए एक भुलावा हैबिट है”l उसने मुझसे कहा वह अच्छी तरह यह जानता है कि यह एक जानलेवा लत है लेकिन इसके बावजूद मैंने इसे अपनाया ताकि मेरा दर्द कम हो सकेl

मैंने यह जानने के लिए कई लोगों के जीवन का अध्ययन किया कि क्यों वह मायूसी और दर्द में जीवन व्यतीत करते हैंl गैर यथार्थवादी लक्ष्य के अलावा इसकी और कोई वास्तविक वजह नहीं है इसलिए कि जब लोगों की आयु बढ़ जाती है और वह नौकरी तलाश करते हैं तो अक्सर असफल हो जाते हैं, और इसकी वजह स्वयं उनकी अपनी इच्छाओं और नौकरी के चुनाव में यथार्थवादी और गैर यथार्थवादी व्यवहार के बीच भेद ना कर सकना हैl एक यथार्थवादी नौकरी फिलहाल सदैव मौजूद होती है जबकि एक गैर यथार्थवादी नौकरी पहुंच से बाहर होती हैl जब लोग कोई गैर यथार्थवादी नौकरी विकल्प कर लेते हैं और अपनी पूरी ज़िन्दगी में उन्हें यह अनुभव होता है कि इस नौकरी के लक्ष्य कभी हासिल नहीं हो सकते तो उनकी ज़िन्दगी लगातार तनाव में गुज़रती हैl और दिन प्रतिदिन की आवश्यकताओं और मांगों के कारण वह ना तो अपनी नौकरी छोड़ पाते हैं और ना ही उन्हें इसमें सुकून और आराम मिलता हैl जिसका परिणाम निराशा के रूप सामने आता हैl

इससे छुटकारा प्राप्त करने का एक रास्ता है: एक अलग सूत्र विकल्प किया जाए जो कि अधिक की इच्छा रखना और कम पर संतुष्ट हो जाना हैl मनुष्य प्राकृतिक रूप से भावुक होता है इसी लिए वह पहुँच से बाहर का लक्ष्य निर्धारित करने पर मजबूर होता हैl लेकिन साथ ही साथ इंसान को यह भी समझना चाहिए और उसे मनुष्य के अन्दर मौजूद इस प्राकृतिक कमजोरी से सचेत होना चाहिए और इस वास्तविकता को स्वीकार करना चाहिए कि कोई भी मनुष्य उन सभी चीजों को प्राप्त करने की ताकत नहीं रखता जिनकी वह इच्छा करता हैl इसलिए सफल मनुष्य वह है जो अधिक की इच्छा रखने और कम पर संतुष्ट होने का सूत्र विकल्प करेl

अगर आप सब्र के साथ रह रहे हैं तो आपकी ज़िन्दगी में खुशियाँ होंगीl लेकिन अगर आप को अपनी उपलब्धि पर सब्र (धैर्य) व संतुष्टि नहीं है तो ज़िन्दगी में निराशा और दुःख आपका भाग्य हैl अगर आपको इस वास्तविकता से आगही प्राप्त हो जाए तो आप अपनी इच्छाएं आसानी से पुरी करेंगे और अतिशीघ्र खुशियाँ हासिल कर लेंगेl ख़ुशी एक आंतरिक कैफ़ियत का नाम है, यह कोई बाहरी उपलब्धि नहीं हैl

जवाहार लाल नेहरु ने अपने लॉ की पढ़ाई इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से पूरी की जिसके बाद उन्होंने इलाहाबाद हाईकोर्ट में लॉ प्रेक्टिस कीl सबसे पहले उन्होंने लॉ के फील्ड में अपना कैरियर बनाने की कोशिश की लेकिन वह इसमें सफल नहीं हुएl इसके बाद उन्होंने राजनीति का दुसरा विकल्प चुना और एक सफल राजनीतिज्ञ बन गएl

दुसरे शब्दों में इसका अर्थ यह है कि इस दुनिया में सदैव मनुष्य के लिए कई रास्ते खुले हैं अगर किसी की ज़िंदगी में एक रास्ता उपयोगी ना हो सके तो उसे दुसरा रास्ता आज़माना चाहिएl यह इतना आसान नहीं है जितना सुनने में लगता है, ख़ास तौर पर उनके लिए जिनके पास सीमित सुविधाएं हैं, लेकिन सहीह व्यवहार मनुष्य को ज़िन्दगी की चुनौतियों से बेहतर तरीके से डील करने में सहायक हो सकता हैl

यह हर मनुष्य की कहानी हैl प्रत्येक मनुष्य को यह मालुम होना चाहिए कि यह दुनिया जिसमें उसे अपनी ज़िन्दगी गुजारनी है, विकल्प Options से भरी हुई हैl मनुष्य को केवल यह करने की आवश्यकता है कि वह निराशा का शिकार ना हो और तुरंत एक वैकल्पिक रास्ते पर निकल पड़े अपितु वह रास्ता उसका पहला चुनाव ना रहा होl इस दुनिया में सफलता का यही राज़ हैl कभी हार ना मानें, कुछ नया आजमाएं और उम्मीद के साथ आगे की ओर देखेंl

timesofindia.indiatimes.com/toi-edit-page/aspiring-for-more-and-settling-for-less/

URL for English article: http://www.newageislam.com/spiritual-meditations/maulana-wahiduddin-khan/don’t-give-up,-just-try-something-new-and-look-ahead-with-hope/d/115851

URL for Urdu article: http://www.newageislam.com/urdu-section/maulana-wahiduddin-khan,-tr-new-age-islam/don’t-give-up,-just-try-something-new-and-look-ahead-with-hope--ہار-نہ-مانیں-،-کچھ-نیا-آزمائیں-اور-امید-کے-ساتھ-آگے-کی-طرف-دیکھیں/d/116128

URL: http://www.newageislam.com/hindi-section/maulana-wahiduddin-khan,-tr-new-age-islam/don’t-give-up,-just-try-something-new-and-look-ahead-with-hope--हार-न-मानें,-कुछ-नया-आज़माएं-और-उम्मीद-के-साथ-आगे-की-ओर-देखें/d/116137

New Age Islam, Islam Online, Islamic Website, African Muslim News, Arab World News, South Asia News, Indian Muslim News, World Muslim News, Women in Islam, Islamic Feminism, Arab Women, Women In Arab, Islamphobia in America, Muslim Women in West, Islam Women and Feminism

 




TOTAL COMMENTS:-    


Compose Your Comments here:
Name
Email (Not to be published)
Comments
Fill the text
 
Disclaimer: The opinions expressed in the articles and comments are the opinions of the authors and do not necessarily reflect that of NewAgeIslam.com.

Content