certifired_img

Books and Documents

Hindi Section (06 Aug 2018 NewAgeIslam.Com)


Need of the Hour Is for Pakistan to Adopt the Prophet’s Delinking Policy पाकिस्तान का नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की डिलिंकिंग नीति पर अग्रसर होना समय की सबसे महत्वपूर्ण आवश्यकता

 

 

 

मौलाना वहीदुद्दीन खान

30 जुलाई, 2018

पाकिस्तान के अन्दर होने वाले हालिया संसदीय चुनाव में इमरान खान की पार्टी एक विजेता राजनीतिक पार्टी की हैसियत से उभरी हैl इस राजनीतिक विजय पर मैंने इमरान खान का भाषण सूना, और मैं पाकिस्तान के एक उज्जवल भविष्य और उनके देश के विकास के लिए इसके संस्थापक के उद्देश्यों की पूर्ति के लिए प्रार्थी हूँ कि अल्लाह उनके नेक इरादों को अंजाम तक पहुंचाएl

प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपने भाषण में कहा कि उन्हें उस पहले राज्य मदीना से इच्छाशक्ति मिलती है जिसे पैगम्बर सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने स्थापित किया थाl हवाले के तौर पर मदीना राज्य का उल्लेख एक अच्छे प्रारम्भ का संकेत हैl अपनी आयु के 90 वर्ष व्यतीत करने के बाद इस प्रगति को देख कर मैं नसीहत के कुछ शब्द पेश करना चाहूँगाl मैंने नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के जीवन का अध्ययन बड़ी गहराई के साथ किया हैl मैंने यह पाया कि पैगम्बर सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के जीवन का सबसे महत्वपूर्ण सबक यह है कि किसी भी संघर्ष की सफलता की ज़मानत एक अच्छी शुरुआत होती हैl नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने सातवीं शताब्दी में मक्का के अन्दर अपने आन्दोलन का आरम्भ कियाl उस समय आप सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के सामने मौके भी थे और परेशानियां भी थीं और आप सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने ऐसी स्थिति में डिलिंकिंग (delinking) की नीति अपनाईl और यही अच्छी शुरुआत आप सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के सफलता का राज़ साबित हुईl

आप सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की नीति यह थी कि आप ने विवादित मामलों को बात चीत के माध्यम से हल करने का प्रयास किया और साथ साथ आपने उपलब्ध मौकों से पूरा लाभ उठाने का अपना संघर्ष भी जारी रखा और दूसरी तरफ मुसलामानों ने केवल गैर विवादास्पद मामलों में ही स्वयं को पेश कियाl पैगम्बर सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की यह डिलिंकिंग (delinking) नीति एक उच्च स्तरीय बुद्धिमत्ता पर आधारित थीl जिसकी बदौलत आप सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम को एक नए राज्य मदीना में विकास करने के अनेकों मौके हाथ लगेl तथापि, पाकिस्तान के स्थापना के बाद इस प्रकार की डिलिंकिंग (delinking) नीति पर अमल करने के बजाए इस देश के  कायद (नेता) ने अपना सारा ध्यान ज़मीन प्राप्त करने पर ही केन्द्रित कर दिया जिसके बारे में उनका गुमान था कि वह कई कारणों कि बिना पर खो चुके हैंl

इतिहास इस वास्तविकता का गवाह है कि इस्लाम के पैगम्बर सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की डिलिंकिंग (delinking) नीति सैद्धांतिक और व्यावहारिक दोनों तौर पर जबर्दस्त साबित हुईl इसका सबसे बड़ा लाभ यह है कि इसमें नए सिरे से योजना बनाने और कौम के निर्माण पर ध्यान केन्द्रित करने का मौक़ा मौजूद हैl दुसरे विश्व युद्ध के बाद बहुत सारे देशों ने इस नीति को अपनाया जिसके आधार पर उन्हें बड़ी सफलताएं मिलींl जर्मनी और जापान ने शिक्षा और वैज्ञानिक विकास के क्षेत्र में जबरदस्त सफलता प्राप्त कीl

समय का सबसे महत्वपूर्ण तक़ाज़ा यह है कि पाकिस्तान डिलिंकिंग (delinking) की इस नीति को अपनाएl जैसा कि इमरान खान ने कहा मौजूदा दौर में किसी भी देश को विकास करने के लिए व्यापार के क्षेत्र में बड़े मौके मौजूद हैंl प्रचलित वैश्विक रुझान के कारण पाकिस्तान और भारत के बीच व्यापार का क्षेत्र खुला है और यह एक ऐसा मौक़ा है जिसका लाभ उठाना आवश्यक हैl इन दोनों देशों को अपने सभी विवादास्पद मामलों को किनारे करके एक मजबूत व्यापारिक संबंध स्थापित करने का संघर्ष करना चाहिएl यह डिलिंकिंग (delinking) नीति इन दोनों देशों के लिए निश्चित रूप से सफलता की जमानत हैl

भारत और पाकिस्तान दोनों को समान रूप से उपमहाद्वीप के एतेहासिक परंपरा से हिस्सा मिला हैl असल में इन दोनों देशों के बीच इतनी समानता पाई जाती है कि यह कहना अतिशयोक्ति ना होगा कि इन दोनों देशों के बीच डिलिंकिंग (delinking) नीति के लिए आधार पहले से ही मौजूद हैl अब तो बस एक संगठित अंदाज़ में इसे प्रयोग करने की आवश्यकता हैl

भारत और पाकिस्तान अपने अपने देश के निर्माण व विकास में मिल कर काम कर सकते हैंl जैसे कि इन दोनों देशों के बीच शिक्षा, चिकित्सा सेवाएं, प्रौद्योगिकी और मीडिया के क्षेत्र में एक स्वस्थ एकता स्थापित करने के बहुत सारे रास्ते खुले हैंl

पड़ोसी होने के कारण भारत और पाकिस्तान हमेशा एक दुसरे के दुश्मन नहीं बनें रह सकतेl बल्कि इन दोनों देशों को एक साथ विकास के एक समानांतर राजमार्ग पर अग्रसर होने की खातिर हर संभव क्षेत्रों में सौहार्दपूर्ण संबंध पुनर्स्थापित करने के लिए संघर्ष करने की आवश्यकता हैl

स्रोत:

blogs.timesofindia.indiatimes.com/toi-edit-page/pakistans-new-pm-the-prophets-delinking-policy/

URL for English article: http://www.newageislam.com/the-war-within-islam/maulana-wahiduddin-khan/need-of-the-hour-is-for-pakistan-to-adopt-the-prophet’s-delinking-policy/d/115976

URL for Urdu article: http://www.newageislam.com/urdu-section/maulana-wahiduddin-khan,-tr-new-age-islam/need-of-the-hour-is-for-pakistan-to-adopt-the-prophet’s-delinking-policy--پاکستان-کا-نبی-صلی-اللہ-علیہ-و-آلہ-و-سلم-کی-پالی--پر-گامزن-ہونا-وقت-کی-سب-سے-اہم-ضرورت/d/116030

URL: http://www.newageislam.com/hindi-section/maulana-wahiduddin-khan,-tr-new-age-islam/need-of-the-hour-is-for-pakistan-to-adopt-the-prophet’s-delinking-policy--पाकिस्तान-का-नबी-सल्लल्लाहु-अलैहि-वसल्लम-की-डिलिंकिंग-नीति-पर-अग्रसर-होना-समय-की-सबसे-महत्वपूर्ण-आवश्यकता/d/116043

New Age Islam, Islam Online, Islamic Website, African Muslim News, Arab World News, South Asia News, Indian Muslim News, World Muslim News, Women in Islam, Islamic Feminism, Arab Women, Women In Arab, Islamphobia in America, Muslim Women in West, Islam Women and Feminism

 




TOTAL COMMENTS:-    


Compose Your Comments here:
Name
Email (Not to be published)
Comments
Fill the text
 
Disclaimer: The opinions expressed in the articles and comments are the opinions of the authors and do not necessarily reflect that of NewAgeIslam.com.

Content