certifired_img

Books and Documents

Hindi Section (17 Jul 2019 NewAgeIslam.Com)



Azan is voice of hate , says Kolkata Khilafat Committee President , stokes controversy अज़ान नफ़रत की आवाज़ है: ‘ख़िलाफ़त कमेटी’ के सदर और बंगाल हज कमेटी के मेम्बर के बयान से विवाद






न्यू एज इस्लाम न्यूज ब्यूरो
गायकार सोनू निगम ने कुछ समय पहले माइक पर अज़ान की आलोचना की थी तो मुसलमानों ने इसे असहिष्णु और संकीर्ण मानसिकता करार दिया था मगर अब कलकत्ता की एक मुस्लिम शख्सियत ने अज़ान की आलोचना कर के एक विवाद खड़ा कर दिया है और खुद मुसलमान ही बगलें झाँक रहे हैं और इस मामले को दबाने की कोशिश कर रहे हैंl घटना यह है कि २ जुलाई को कलकत्ता के मिल्ली अल अमीन कॉलेज में उलेमा, बुद्धिजीवियों और मिल्ली संगठनों के नेताओं की एक मुशावरती मीटिंग मिल्लत ए इस्लामिया के सामने मॉब लिंचिंग और दोसरे समस्याओं पर गौर करने के लिए बुलाई गई थीl इस मीटिंग में इमाम इदैन कारी फजलुर्रहमान, और मजलिस एहरार सलाम के सरबराह शराफत अबरार दीनाजपुरी और ख़िलाफ़त कमेटी के अध्यक्ष शाकिर रेंडेरियन व दोसरे नुमाइंदा शख्सियात शरीक थींl इस मौके पर जब अज़ान हुई तो शाकिर रेंडेरियन ने अज़ान की आवाज़ सुन कर लाहौला वला कुव्वता पढ़ा और कहा यह नफरत की आवाज़ है और हर सुबह हमारा आगाज़ इसी नफरत की आवाज़ से होता हैl उनके इस बयान पर वहाँ मौजूद लोग हैरान रह गए और कई लोगों ने उन्हें इस बात पर तंबीह कीl यह बात फ़ौरन फ़ैल गई और शहर में इस पर बहस छिड़ गई और हर तरफ से उनके बयान की निंदा की जाने लगीl मौलाना शराफत ने उनके बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि मीटिंग में मैंने उनसे तौबा करने को कहा थाl मैंने उन्हें ८ जुलाई तक तौबा करने या फिर अपने ओहदे से दस्त बरदार होने का अल्टीमेटम दिया हैl उन्होंने ख़िलाफ़त कमेटी से मांग किया है कि वह शाकिर साहब के इस बयान का नोटिस लेते हुए उन्हें सदारत से बर्खास्त करेंl
मौलाना नुरुर्रह्मान बरकती ने कहा कि शाकिर रेंडेरियन ने अज़ान को नफरत की आवाज़ करार दिया जो निंदनीय हैl अज़ान का विरोध करने वाला इस्लाम से बाहर हो जाता है इसलिए उन्हें तजदीद ए ईमान करना चाहिए और तजदीद ए निकाह भी करनी चाहिएl कलकत्ता की नाखुदा मस्जिद के इमाम नूर आलम ने भी कहा कि अज़ान पर तनकीद करने वाला मुसलमान हो ही नहीं सकताl उन्हें तौबा करनी चाहिएl और उन्होंने कहा कि ऐसे समय में जब गैरों के जरिये इस्लामी अनुष्ठान को आलोचना का निशाना बनाया जा रहा है, एक मुसलमान की तरफ से अज़ान की तनकीद से गलत पैगाम गैर मुस्लिमों में जाएगाl अज़ान इस्लाम की पहचान हैl
मीटिंग में मौजूद कारी फजलुर्रहमान साहब ने कहा इस मामले पर मोहतात रवय्या अपनाते हुए कहा कि शाकिर रेंडेरियन का बयान इंसानी गलती हैl वह असल में कहना ये चाहते थे कि हमारे इस काम से गैरों में नफरत पैदा होती हैl फजर के वक्त कई मस्जिदों से एक साथ ऊँची आवाज़ में माइक से लम्बी अजानें होती हैं जिससे गैरों को तकलीफ होती हैl मिली जुली आबादी वाले क्षेत्रों में देर तक अज़ान की आवाज़ गूंजती रहती है जिस से लोगों के आराम में खलल पड़ता हैl इसलिए, घने मुस्लिम आबादी वाले क्षेत्रों में केवल एक ही मस्जिद में कम आवाज़ में अज़ान दी जाएl वह यही कहना चाहते थे मगर उन्होंने अपनी बात को गलत ढंग से पेश कियाl बहर हाल उन्होंने भी स्वीकार किया कि अज़ान की आवाज़ सुन कर लाहौल पढ़ना गलत थाl
नाखुदा मस्जिद के इमाम मौलाना शफीक कासमी ने कहा कि मैं उस मीटिंग में शामिल नहीं हुआ था मगर अज़ान को नफरत की आवाज़ कहना उचित नहीं हैl अज़ान लोगों को अल्लाह की तरफ बुलाती है और माइक से अज़ान देने का उद्देश्य ही उन्हें अल्लाह की तरफ बुलाना हैl अज़ान कहती है कि नमाज़ नींद से बेहतर हैl दोसरे धर्मों के लोग अपने अपने तरीके से धर्म की पैरवी करते हैं इस पर एतेराज़ करना सहीह नहीं हैl
मौलाना शराफत अबरार दीनाजपूरी ने कहा कि शाकिर साहब ने दो साल पहले भी एक प्रोग्राम के बीच यही बात कही थी और वहाँ मौजूद खातून ने उनकी बात का समर्थन किया थाl
बहर हाल  शाकिर रेंडेरियन ने एक अखबार को लिखित बयान दिया जिसमें उन्होंने अपने बयान पर अफ़सोस का इज़हार कियाl उन्होंने कहा कि मेरी उर्दू कमज़ोर है इसलिए मेरी जुबान से एक गलत बात निकल गईl मगर अफ़सोस का मुकाम है कि इसके बाद भी कुछ मिल्ली लीडर इस बात पर बज़िद हैं कि शाकिर साहब ख़िलाफ़त कमेटी से इस्तीफ़ा देंl वाज़ेह हो कि ख़िलाफ़त कमेटी ने भी इस मामले पर एक मीटिंग तलब की जिस में शाकिर रेंडेरियन के बयान और उनके माफ़ी नामे पर गौर किया गया और कमेटी ने उनके माफीनामे को कुबूल कर लियाl मगर मौलाना शराफत अबरार दीनाजपुरी और कुछ दोसरे उलेमा इस बात पर बज़िद हैं कि वह ख़िलाफ़त कमेटी से इस्तीफ़ा देंl इतना ही नहीं अब इस मामले को बढ़ावा दे कर मस्लकी मामले में परिवर्तन की कोशिश की जा रही हैl


URL for Urdu: URL:http://newageislam.com/urdu-section/new-age-islam-news-bureau/azan-is-voice-of-hate-,-says-kolkata-khilafat--committee-president-,-stokes-controversy--’اذان-نفرت-کی-آواز-ہے‘--خلافت-کمیٹی-کے-صدر-اور-بنگال-حج-کمیٹی-کے-رکن-کے-بیان-سے-تنازع/d/119184


URL: http://www.newageislam.com/hindi-section/new-age-islam-news-bureau/azan-is-voice-of-hate-,-says-kolkata-khilafat-committee-president-,-stokes-controversy--अज़ान-नफ़रत-की-आवाज़-है--‘ख़िलाफ़त-कमेटी’-के-सदर-और-बंगाल-हज-कमेटी-के-मेम्बर-के-बयान-से-विवाद/d/119208





TOTAL COMMENTS:-    


Compose Your Comments here:
Name
Email (Not to be published)
Comments
Fill the text
 
Disclaimer: The opinions expressed in the articles and comments are the opinions of the authors and do not necessarily reflect that of NewAgeIslam.com.

Content