certifired_img

Books and Documents

Hindi Section

मौलाना तौकीर रज़ा: तो सुनिए तलाक़ ए बिदअत पर उन्होंने बिल बनाया है तलाक़ ए अहसन और तलाक़ ए हसन पर नहीं बनाया है तलाक़ ए बिदअत जो नशे में और गुस्से में होती है और ऐसी तलाक़ पर हुजुर सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने भी नागवारी का इज़हार फरमाया था और हज़रत उमर के ज़माने में ऐसी तलाक़ पर कोड़े भी लगाए गए थे l........

 

कुरआन और सुन्नत ने खूँ रेज़ी को सख्ती से निषेध करार दिया हैl और जहां कहीं भी जंग की अनुमति दी गई वहाँ भी असल में मानवता की सुरक्षा ही मद्देनजर रहीl कुरआन पाक सरीह शब्दों में यह एलान करता है कि जिसने किसी एक जान को क़त्ल किया ना जान के बदले ना ज़मीन पर किसी आपराधिक कार्य के आधार पर तो गोया उसने पूरी इंसानियत का कत्ल कर दिया (अल मायदा).......

 

अक्टूबर १९४७ ई० में कश्मीर के महाराजा को कश्मीर का भारत से सहबद्ध करना पड़ा था वहाँ की जनता तीन वर्गों में बट गईl एक वर्ग आज़ाद राज्य, दोसरा वर्ग पाकिस्तान के साथ एकीकरण और तीसरा वर्ग भारत के साथ सहबद्धता का इच्छुक थाl

 

अल्लाह ने हज़रत ईसा अलैहिस्सलाम को शिफा याबी की ताकत अता की थीl इसलिए, अगर कोई बीमार शख्स उनके पास शिफा याबी के लिए आया तो क्या यह “शिर्क” हुआ? बेशक नहीं\, ख़ास तौर पर जब आने वाले को इस बात का शउर है कि शिफा की ताकत हज़रात ईसा अलैहिस्सलाम को अल्लाह ने अता की हैl

 

कुरआन में मुसलमानों को दीन के प्रचार और इसके अस्तित्व के लिए मेहनत करने और कुर्बानी पेश करने की तलकीन की है और इसके लिए बड़े बदले की बशारत दी हैl मुसलमानों को दीन के प्रचार प्रसार और तौहीद के संदेश को जनता तक पहुंचाने के लिए हर तरह से मेहनत और संघर्ष करने की हिदायत दी हैl

 

कुरआन और दोसरे सभी आसमानी सहिफों में खुदा को निरंकार, बेमाहीत और लतीफ कहा गया हैl उसकी ज़ात को ना देखा जा सकता है, ना अंदाजा किया जा सकता है और ना उसे अक्ल पा सकती हैl उसे किसी भी माद्दी सूरत से पहचाना नहीं जा सकताl मगर इसके साथ ही साथ कुरआन यह भी कहता है कि वह सुनने, देखने, तदबीर करने और तखलीक करने और तबाह करने की सलाहियत रखता हैl

 

कुछ मुफ़स्सेरीन इस आयत (८५:१०) की तफ़सीर में फरमाते हैं कि यहाँ फितने में मुब्तिला करने से आग में जलाना भी मुराद लिया गया हैl मुफ़स्सेरीन के इस अर्थ की रू से देखा जाए तो मौजूदा दौर में होने वाले खुद काश हमलों, बम धमाकों, और बारूद से आम नागरिकों को जला कर मार देने वाले फितना परवर लोग अज़ाब के हकदार हैंl

 

डॉक्टर ज़वाहिरी, आपने कुरआन की एक विशिष्ट संदर्भ वाली आयत का हवाला देकर मुसलमानों को गुमराह करने की कोशिश की है, और एक ऐसी कुरआनी हिदायत में विस्तार पैदा करने की कोशिश की है जो स्पष्ट रूप से उस एक ख़ास जमात के हक़ में नाज़िल हुई थी जो इस्लाम के पैगम्बर सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के साथ जंग के लिए तैयार थीl पिछले पांच छः सौ सालों से अनेकों उलेमा यही कहते हुए आए हैं कि इन आयतों को उसी संदर्भ में देखा जाना चाहिए जिसमें उनका नुज़ूल हुआ थाl

 

खुदा ने मोहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की उम्मत के लिए यह भी फर्ज़ कर दिया है कि वह हज़रत मोहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम पर दरूद व सलाम कसरत से भेजते रहेंl दरूद व सलाम भेजना अफज़ल इबादत भी हैl दरूद व सलाम के बड़े सवाब की वजह से खुद हुज़ूर सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम अपने सहाबा से दरूद व सलाम की ताकीद करते थेl खुदा इस बात का आदेश इस आयत में देता है-

 

गायकार सोनू निगम ने कुछ समय पहले माइक पर अज़ान की आलोचना की थी तो मुसलमानों ने इसे असहिष्णु और संकीर्ण मानसिकता करार दिया था मगर अब कलकत्ता की एक मुस्लिम शख्सियत ने अज़ान की आलोचना कर के एक विवाद खड़ा कर दिया है और खुद मुसलमान ही बगलें झाँक रहे हैं और इस मामले को दबाने की कोशिश कर रहे हैंl घटना यह है कि २ जुलाई को कलकत्ता के मिल्ली अल अमीन कॉलेज में उलेमा, बुद्धिजीवियों और मिल्ली संगठनों के नेताओं की एक मुशावरती मीटिंग मिल्लत ए इस्लामिया के सामने मॉब लिंचिंग और दोसरे समस्याओं पर गौर करने के लिए बुलाई गई थीl

 

कुरआन के नाज़िल होने और हुजुर सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के भेजे जाने का उद्देश्य यही है कि इंसान के दुनियावी मामले बेहतर हो जाएं चाहे वह मामले ज़ाती हों, समाजी हों, पारिवारिक हों, वैवाहिक हों, व्यक्तिगत हों चाहे क्षेत्रीय या वैश्विक होंl असल उद्देश्य यह है कि इंसान की शख्सियत संवर जाए और इसकी सारी ताकत आख़िरत को बेहतर बनाने में खर्च होl

 

मज़हब पुर्णतः प्रकृति के खिलाफ साबित हुआ है इसलिए कि हर मज़हबी हुक्म या कानून उस चीज को खत्म करता है जिससे इंसान को लज्ज़त मिलती है और हर उस बात से परहेज़ करने का आदेश देता है जो खुद के हक़ में या समाज के हक़ में हानिकारक है, और बड़े पैमाने पर समाज की भलाई के लिए ऐसे कामों का आदेश देता है जो तकलीफदेह या नागवार हो सकते हैंl

 

बेशक हमारा प्यारा वतन एक महान देश हैl पूरी दुनिया में यहाँ की सभ्यता व संस्कृति ज्ञान व कला की प्राचीन काल में भी शोहरत व अज़मत थी और आज भी उन्हीं विशेषताओं के लिए जाना जाता हैl वर्तमान काल में विज्ञान और तकनीक ने और इस देश को उंचाई के शिखर तक पहुंचा दिया हैl इसके साथ साथ लोकतांत्रिक भारत के आंदोलन का इतिहास भी एक ऐसी रचनात्मक उदाहरण है जहां विभिन्न धर्मों और भाषाओं से संबंध रखने वाले शांति और अमन व सलामती के साथ रहते हैंl

 

संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार काउंसिल ने पिछले मार्च एक प्रस्ताव स्वीकार किया था जिसे इस्लामी देशों की तरफ से पाकिस्तान ने पेश किया था जिसके अनुसार “धर्म का अपमान” को मानवाधिकारों की खिलाफवर्जी स्वीकार किया गया थाl ५६ देशों पर आधारित और्गिनाइज़ेश्न आफ इस्लामिक कांफ्रेंस का नेतृत्व करते हुए पाकिस्तान ने कहा था कि “इस्लाम को हमेशा गलत तौर पर मानवाधिकार की खिलाफवर्जी और आतंकवाद के साथ जोड़ा जाता हैl इसने राज्यों से ऐसे लोगों पर पकड़ मजबूत करने का मुतालबा किया था जो नस्लीय और मज़हबी अल्पसंख्यकों के लिए असहिष्णुता का प्रदर्शन करते हैं और यह भी कहा था कि “सहिष्णुता और सभी दीनों व मजहबों के सम्मान को बढ़ावा देने के लिए सभी संभव कदम उठाए जाएंl

 

श्री राम कृष्ण को वेदांत में ही बुत परस्ती का जवाज़ नज़र आयाl हिन्दुओं के दोसरे बड़े धार्मिक आलिमों और रूहानी पेशवाओं ने भी बुत परस्ती को सहीह ठहरायाl इसलिए बुतपरस्ती हिन्दुओं में रिवाज पा गईl उनका विश्वास था कि बुतों पर इर्तेकाज़ के माध्यम से नए मुर्ताज़ को निर्गुण ब्राह्मण की पहचान हासिल करने में मदद मिलती है और वह आगे चल कर गुणों से खाली वास्तविक माबूद की पहचान हासिल करने में सफल हो जाते हैंl

 

जीव विज्ञान के विशेषज्ञों ने लम्बे अध्ययन और अवलोकन के बाद जानवरों के प्राकृतिक आदतों का उसी प्रकार निर्धारण किया है जैसे मनोविज्ञान के विशषज्ञों ने इंसानों के आंतरिक और सामाजिक व्यवहारों काl भेड़िया कुत्ते की नस्ल का शिकारी जानवर है लेकिन पालतू नहीं है अर्थात उसे कुत्ते की तरह पालतू नहीं बनाया जा सकता हैl आश्चर्यजनक बात है कि नस्ली विकास और शारीरिक गुणों में कुत्ते से अच्छे होते हुए भी भेड़िया कुत्ते की तरह बहादुर नहीं होताl

 

मॉब लिंचिंग या आतंकवाद की वबा सार्व देश में फूट पड़ी हैल इसके बारे में मुसलमानों की चिंता और फिक्रमंदी स्वभाविक बात हैl क्योंकि उन पर नाहक हमले किसी ना किसी बहाने से किये जा रहे हैंl आज कल ‘जय श्री राम’ के ना बोलने से मुसलमानों पर हमले एक के बाद एक किये जा रहे हैंल जहां जहां संघ परिवार की हुकूमतें हैं वहाँ हमला करने वालों की सराहना हो रही हैl अपराधियों को गले लगाया जा रहा है और फूलों का हार पहना कर स्वागत किया जा रहा है l

 

ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में शब्द टेररिज्म के यह अर्थ दर्ज हैं कि राजनीतिक उद्देश्यों के प्राप्ति या किसी चयनित या अचयनित सरकार को किसी काम पर मजबूर करने के लिए हिंसक कार्यों के प्रयोग को टेररिज्म कहा जाता हैl शब्द आतंकवाद को इस्लाम और मुसलामानों के साथ जोड़ने का खेल वैश्विक षड्यंत्र का हिस्सा हैl जिसका खाका बनाने और व्यावहारिक उपाय में लाने में इस्लाम दुश्मन तत्व यहूदियत ही हैl

 

पिछले कुछ दिनों से एक बार फिर मॉब लिंचिंग की वारदात में वृद्धि हुई है और देश के विभिन्न क्षेत्रों में मॉब लिंचिंग की वारदातें सामने आ रही हैंल अभी हाल ही में झारखंड राज्य के सराए केला जिले के खरसावाँ में तबरेज़ अंसारी के साथ मॉब लिंचिंग की गह्तना सामने आई, लोगों ने उसे पीट-पीट कर मौत के घात उतार दिया l

 

हज़रत अबू हुरैरा (रज़ीअल्लाहु अन्हु) से मरवी है कि रसूलुल्लाह (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ने फरमाया जिस व्यक्ति ने किसी मुसलमान के क़त्ल में आधे शब्द के साथ भी मदद की तो वह कयामत के दिन अल्लाह पाक से इस हाल में मुलाक़ात करेगा कि उसकी पेशानी पर लिखा हुआ होगा अल्लाह की रहमत से मायूसl

 

तसव्वुफ़ कोई बिदअत नहीं जैसा कि कुछ विरोधी तसव्वुफ़ प्रोपेगेंडा करते रहते हैंl तसव्वुफ़ असल में शरीअत के बताए हुए सिद्धांतों पर अल्लाह पाक से संबंध करने का नाम हैl तसव्वुफ़ दिल की निगहबानी का दोसरा नाम है क्योंकि इंसान बज़ाहिर जिस्म और नफ्स का नाम है मगर असल में, दिल का नाम है और अगर दिल मुसलमान ना हो सका तो रुकूअ व सुजूद या जुबान से खुदा का इकरार, दोनों निरर्थ हैंl

 

क़ाज़ी नुरुल इस्लाम शुरू से ही वैष्णो धर्म से प्रभावित हो कर उन्होंने वैष्णो धर्म स्वीकार कर लिया और मुर्शिदाबाद के राधा घात आश्रम के नेताई खेपा की मुरीदी विकल्प की और संन्यास ले लियाl उनका नाम राधामोए गोस्वामी रखा गयाl

कुरआन अल्लाह की मखलूक हैl यह उन आयतों का एक संग्रह है जो प्रारंभिक मक्की दौर में मोहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम पर उस सार्वभौमिक धर्म के लिए हिदायत के तौर पर नाज़िल हुई हैं जो ज़मीन पर हज़रत आदम अलैहिस्सलाम की पैदाइश से ही सभी कौमों की ओर एक ही संदेश के साथ भेजे जाने वाले बराबर हैसियत के विभिन्न रसूलों (कुरआन २:१३६) के जरिये भेजा गया हैl इसलिए, वह प्रारम्भिक आयतें जो हमें अमन और सहअस्तित्व, अच्छे समाज, सब्र, सहिष्णुता और बहुलतावाद की शिक्षा देती हैं कुरआन की बुनियादी और तामीरी आयतें हैंl यही इस्लाम का बुनियादी संदेश हैl लेकिन कुरआन में बहोत सारी ऐसी संदर्भ वाली आयतें भी हैं जो नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम और आपके सहाबा के लिए सख्त और मुश्किल तरीन स्थिति से निमटने के लिए अहकाम व हिदायत के तौर पर नाज़िल हुई थीं इसलिए कि मुशरेकीन ए मक्का और मदीना के अधिकतर अहले किताब ने नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के जरिये आने वाले खुदा के पैगाम को स्वीकार करने से इनकार कर दिया था और नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम और आपके कुछ सहाबा को नेस्त व नाबूद करने का निर्णय कर लिया थाl

 
What to Do Now?  अब क्या करें?
What to Do Now? अब क्या करें?
Dr. Ghulam Zarqani, Tr. New Age Islam

गैर मुस्लिम बच्चियों और औरतों के साथ तनहाई में बात चीत से परहेज़ करें और मामलों की हद तक बात करनी भी पड़े, तो दो चार की मौजूदगी में बात करें, ताकि शरपसंद तत्व नाज़ेबा आरोप लगा कर आपके पाक दामन को दागदार करने की हिम्मत ना कर सकें, नेज़ यह कि इस तरह क्षेत्रीय माहौल में धार्मिक घृणा का ज़हर फैलाने वाले कभी भी सफल नहीं हो सकेंगेl

 

लोकसभा के परिणामों के बाद मामूली अंतराल के बाद प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने दो बार मुसलमानों के सम्बन्ध से लचकदार रवय्या अपनाया है और उनके रवय्ये में अचानक अद्भुत परिवर्तन घटित हुआl पहले उन्होंने संसद के केन्द्रीय हाल में बीजेपी और एनडीए में शामिल दोसरी पार्टियों के चुनें संसद सदस्यों के सामने जो बयान दिया, इसकी गूंज और इस पर बहस का सिलसिला अभी समाप्त नहीं हुआ थाl........

 
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 ... 55 56 57


Get New Age Islam in Your Inbox
E-mail:
Most Popular Articles
Videos

The Reality of Pakistani Propaganda of Ghazwa e Hind and Composite Culture of IndiaPLAY 

Global Terrorism and Islam; M J Akbar provides The Indian PerspectivePLAY 

Shaukat Kashmiri speaks to New Age Islam TV on impact of Sufi IslamPLAY 

Petrodollar Islam, Salafi Islam, Wahhabi Islam in Pakistani SocietyPLAY 

Dr. Muhammad Hanif Khan Shastri Speaks on Unity of God in Islam and HinduismPLAY 

Indian Muslims Oppose Wahhabi Extremism: A NewAgeIslam TV Report- 8PLAY 

NewAgeIslam, Editor Sultan Shahin speaks on the Taliban and radical IslamPLAY 

Reality of Islamic Terrorism or Extremism by Dr. Tahirul QadriPLAY 

Sultan Shahin, Editor, NewAgeIslam speaks at UNHRC: Islam and Religious MinoritiesPLAY 

NEW COMMENTS

  • Definition of a Sect? So sad to see a country filled with millionaires and educated....
    ( By James Noku )
  • Sexual mores in the 21st century are not different from the sexual mores of the 7th century or of an earlier period.....
    ( By Naseer Ahmed )
  • Satan is a friend of those without faith and he first strips his votaries of their sense of shame. There....
    ( By Naseer Ahmed )
  • There is no limit to Hats Off's lies. Lie number 1: I hate the United States. Lie number 2: I cannot stand it when the Quran is ...
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • Muslim Women needs only Burkha! Where is the Question of identity. It's just moving letter bices'
    ( By Aayana )
  • Islam can offer A killing of other human with reason and work for no monetary value only Jinadi Jingoisim is enough.
    ( By Aquina )
  • Relgion Offers Killing with Absurd philosophy named Aayats or Purans or Bible Accounts'
    ( By Aayina )
  • the NAI editorial team should kindly print the original article by Dan Corjescu.
    ( By hats off! )
  • mr ghulam mohiyuddin has clearly fallen between two stools....
    ( By hats off! )
  • Naseer sb. believes that anyone who does not concur with his.....
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • Support for B.D.S. is even more widespread in Europe than it is....
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • Islam once was the cutting edge of modernity. Unfortunately....
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • Zakir Naik seems to think that being intolerant and punitive....
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • If feminism seems righteous, just and worthwhile to you, go for....
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • Science can answer questions about "how" life originated, but it cannot answer "why"....
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • MashAllah. New Age Islam is doing a great job by spreading the message of Al Zawahiri
    ( By Mohammad Arif )
  • GM sb is wrong as usual. I do not care whether "Muslims" like him follow their religion or turn apostates....
    ( By Naseer Ahmed )
  • GM sb lacks the courage to announce his apostasy, change his identity and move on. He straddles ....
    ( By Naseer Ahmed )
  • Prophet Mohammad in the past was never anti-plural since he permitted...
    ( By zuma )
  • Naseer sb. is unswerving in his dogged insistence to keep us fixated...
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • Trump's offering mediation on Kashmir is like the proverbial bull in a China shop! Look at how unjust his approach has been in the ...
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • A dawah program based on disparaging the beliefs of others has no place in today's world. We must learn to cherish our diversities.
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • We should have given all that money and all those weapons to the. ...
    ( By Richard Pinc )
  • it is no Arab spring now it has been spring fourteen hundred years before. when....
    ( By Ashraf Quadri )
  • "The preacher, who is a Malaysian permanent resident, is alleged....
    ( By Richard Pinc )
  • Personally, I am turned off by Zakir Naik, but the one thing that no....
    ( By Richard Pinc )
  • Hijab and its form (head covering flowing down to cover the bosom ) is clearly prescribed and also exemptions ....
    ( By Naseer Ahmed )
  • Hats Off speaks with as much ignorance as hatred. Neither of those two ladies is about promoting any ....
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • Why are you giving such wide publicity to the views of Ayman al Zawahiri . Personally...
    ( By Badarul Hassan )
  • It is not true that Islamic nation is a nation of monotheism since Islamic nation at that time when Prophet Mohammad....
    ( By zuma )
  • Hadith supports no compulsion for women to put on hijab. The following is the extract: It was narrated from....
    ( By zuma )
  • why did indian sub-continent yeaild to every tom dick or harry with a horse and a sword? it was a society...
    ( By hats off! )
  • both ilhan and tlaib are brotherhood goons groomed by CAIR. they have the....
    ( By hats off! )
  • Despite Quran mentions women must put on hijab, yet Allah does not....
    ( By zuma )
  • Good article! With BJP rule, India will cease to be India.
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • Malaysia did the right thing by silencing Zakir Naik.
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • Hijab is not one of the Five Pillars. Jihadi terrorists like Al-Zawahiri...
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • Nice bhai and right.
    ( By Md samir ansari )
  • Very sensible and prudent column.
    ( By Ghulam Mohiyuddin )
  • The Ummah and the Caliphate are obsolete concepts and have no....
    ( By Ghulam Mohiyuddin )